कृषि भूमि में बने मैरिज गार्डन्स के खिलाफ होगी कार्यवाही -जिला कलक्टर

जयपुर, 25 नवम्बर। जिला कलक्टर श्री जगरूप सिंह यादव ने शहर में बिना भू-उपयोग परिवर्तन कराए एवं बिना अनुमति कृषि भूमि पर चल रहे मैरिज गार्डन्स के खिलाफ कार्यवाही करने के लिए जयपुर विकास प्राधिकरण को निर्देष दिए हैं। नगर निगम को भी ऐसे मैरिज गार्डन्स में फायर एनओसी, सुरक्षा नियमों, साफ-सफाई, पार्किंग आदि की व्यवस्था एवं नियमों पालना के बारे में सर्वे कराने एवं जेडीए को सूचित करने को कहा गया है।
जिला कलक्टर ने विभिन्न विभागों के अधिकारियों की बैठक लेने के बाद बताया कि शहर के विस्तार के साथ बाहरी बस्तियों एवं सड़कों में अनेक मैरिज गार्डन्स बिना सक्षम अनुमति एवं सुरक्षा उपायों के बिना भू-रूपान्तरण करवाए बना लिए गए हैं। पंजीकृत नहीं होने के कारण इनकी समुचित निगरानी भी नहीं हो पा रही है। फायर एनओसी, पार्किंग, साफ-सफाई आदि के सम्बन्ध में निगम क्षेत्र में निगम द्वारा कार्यवाही की जाती है लेकिन बाहरी इलाकों में जेडीए क्षेत्र में इनपर कोई नियंत्रण नहीं है। ऐसे अवैध मैरिज गार्डन्स पर सम्बन्धित तहसीदार के माध्यम से जेडीए को कार्यवाही करने के निर्देष दिए गए हैं।
उन्होंने निगम के अधिकारियों को सार्वजनिक प्रकाष व्यवस्था दुरूस्त करने, कचरा संग्रहण के लिए जिम्मेदार कम्पनी को संसाधनों के आधार पर कार्यक्षेत्र देने और काम नहीं करने वाले, खराब रिकॉर्ड वाले सबलेट संवेदकों को हटाने के निर्देष दिए। साथ ही शहर में आवारा पषुओं की समस्या के लिए ठोस योजना प्रस्तुत करने को कहा।
बैठक में जलदाय विभाग के  अधिकारियेां ने बताया कि शहर में पेयजल व्यवस्था से बिना जुडे़ क्षेत्रों में जलदाय के लिए नए नलकूप खोदे गए हैं। एयरपोर्ट और प्रताप नगर में पुराने नलकूपों के सूख जाने के कारण बीसलपुर की जल वितरण प्रणाली से जोड़ा जाना है।
चिकित्सा विभाग के प्रतिनिधियों ने बताया कि अब तक शहर के करीब 100 विद्यालयों में डेंगू के बारे में विद्यार्थियों एवं षिक्षकों को जानकारी दी गई है। डेंगू का मामला सामने आते ही नगर निगम के सहयोग से फोगिंग कराई जा रही है। नवम्बर में अब तक जयपुर में डेंगू के 1123 मामले सामने आए हैं। साथ ही फूड सेफ्टी कानून के अन्तर्गत लगातार कार्यवाही की जा रही है।
 श्री यादव को निगम एवं जेडीए अधिकारियों ने बताया कि रूपटॉफ होटल्स, कोचिंग इन्सटीट्यूट आदि के सम्बन्ध में विभाग द्वारा बायलॉज बनाने की कवायद जारी है। जेडीए क्षेत्र में 180 कोचिंग सेंटर्स में से 152 को एवं 72 रूफटॉप होटल्स में से 71 को नोटिस जारी किए जा चुके हैं।
श्री यादव ने बताया कि विद्युत विभाग के प्रतिनिधियों को सांभर झील क्षेत्र में अवैध नमक के उत्पादन के लिए बिछाए गए विद्युत कनेक्षन्स को हटाकर रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा गया है। जिला कलक्टर ने कहा है ग्रामीण क्षेत्र में किसानों को रात्रि में 7 घंटे दी जा रही बिजली लगातार दी जाए एवं फीडर को सुचारू रखा जाए। विषेषकर सांभर में जोबनेर क्षेत्र, चौमूं में गोविन्दगढ़ एवं खेजरोली को लेकर षिकायतें आ रही हैं। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रथम श्री इकबाल खान, चतुर्थ श्री अषोक कुमार, दक्षिण श्री शंकरलाल सैनी एवं विभिन्न विभागों के प्रतिनिधि शामिल हुए।


Comments