स्कूली बच्चे बनेंगे डेंगू के खिलाफ ‘हैल्थ सोल्जर’ - जिला कलक्टर

जयपुर, 18 नवम्बर। जिला कलक्टर श्री जगरूप सिंह यादव ने कहा है रुके साफ पानी में पैदा होने वाले मच्छर से फैलने वाले डेंगू से खुद को और परिवार को बचाने के लिए स्कूली बच्चे 'हैल्थ सोल्जर' की भूमिका निभा सकते हैं। उन्होंने निर्देष दिए हैं कि जयपुर शहर के सभी विद्यालयों में प्रार्थना सभा के दौरान बच्चों को 10 मिनिट के लिए डेंगू के बारे में जानकारी देने के लिए विषेष अभियान चलाया जाए। बच्चों को आॅडियो-विजुअल माध्यम से बताया जाए कि डेंगू से वे स्वयं कैसे बचें और अपने परिवार को कैसे बचाएं।



श्री यादव ने सोमवार को चिकित्सा अधिकारियों के साथ शहर में डेंगू की स्थिति की समीक्षा के दौरान यह निर्देष दिए। उन्होेंने कहा कि सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों की सहायता से इस कार्य का अभियान का स्वरूप देकर सभी स्कूलों तक पहंुचा जाए। बच्चों को बताया जाए कि डेंगू का मच्छर ज्यादातर दिन में ही टखने तक पैरों पर ही काटता है। उन्हें उसका लार्वा दिखाकर जीवन चक्र समझाया जाए ताकि वे अपने घर, आस-पड़ोस में मच्छरों का प्रसार रोकने में मदद कर सकें। उन्होंने जिला षिक्षा अधिकारी को भी इसके लिए आदेष निकालने के निर्देष दिए। उन्होंने डेंगू के बारे में दैनिक समीक्षा एवं निगम को फोगिंग के लिए स्थानों की सूचना एवं सूची उपलब्ध कराने के भी निर्देष दिए।



श्री यादव ने सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा सुधारी गई जिले की सड़कों की आॅडिट तहसीलदार, नायब तहसीलदार रूरल से करवाने के निर्देष दिए। उन्होंने कहा कि इस परीक्षण में तकनीकी सहयोग विभाग के जेईएन, एक्सईएन या पंचायत विभाग के अभियंताओं से लिया जा सकता है। साथ ही सानिवि द्वारा 24 से 30 नवम्बर किए जा रहे कार्य परीक्षण के दौरान भी यह आॅडिट कार्य किया जा सकता है।  



श्री यादव ने लोकसेवाओं की गारन्टी में शामिल विभिन्न विभागों से सम्बन्धित सभी कार्याें के लिए नया फोर्मेट बनाकर समयबद्ध रूप से इसकी रिपोर्ट लिए जाने के लिए सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देष दिए। उन्होंने सार्वजनिक स्थलों पर बिना अनुमति जुलूस एवं बिना अनुमति आतिषबाजी, ध्वनि प्रदूषण पर नियमानुसार कार्यवाही के लिए निर्देषित किया।



नगर निगम की कचरा संग्रहण एवं परिवहन व्यवस्था पर नाखुषी जाहिर करते हुए उन्होंने कहा कि शहर सफाई के लिए किसी योजना के सफल होने का इंतजार नहीं कर सकता। यह रोज की आवष्यकता है और इसमें बहुस्तरीय व्यवस्था ठीक नहीं है। संसाधनों के अनुरूप ही किसी संवेदक को किसी निष्चित क्षेत्र में सफाई की जिम्मेदारी सौंपी जानी चाहिए।



जिला कलम्टर ने पानी की स्थायी आपूर्ति से वंचित 30 प्रतिषत क्षेत्र में जल प्रदान करने की शाॅर्ट टर्म, मीडियम टर्म और लाॅंग टर्म प्लानिंग के लिए अधिकारियेां को निर्देष प्रदान किए। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रथम श्री इकबाल खान, चतुर्थ श्री अषोक कुमार, साउथ श्री शंकरलाल सैनी एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी शामिल हुए। 


Comments