एनुअल फंगशन में बच्चों ने मचाया धमाल


जयपुर, 30 दिसम्बर,। मानसरोवर स्थित सेंट विल्फ्रेड स्कूल का वार्षिकोत्सव स्किल बेस्ड थीम पर आधारित श्नवरसश् जी.डी. बडाया ऑडिटोरियम में आयोजित किया गया। वार्षिकोत्सव में मुख्य अतिथि किषनपोल के विधायक अमीन कागजी, गेस्ट ऑफ ऑनर रियो ओलम्पियन रेसवॉकर सपना पूनिया, डिस्ट्रिक्ट जज हिमांगी षर्मा, बार काउंसिल के सदस्य महेष षर्मा, युवा नेता नीरज अग्रवाल, सचिवालय सेवा अधिकारी संघ के अध्यक्ष मेघराज पंवार, सीनियर एडवोकेट डॉ. अखिल षुक्ला एवं सेंट विल्फ्रेड एजुकेषन सोसायटी के मानद सचिव डॉ. केषव बड़ाया उपस्थित थे।


कार्यक्रम की शुरूआत में डॉ. बडाया ने मुख्य अतिथि एंव सभी अतिथयों का राजस्थानी परम्परानुसार साफा,षॉल एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया इसके पष्चा्त मुख्य आर्कषण का क्रेन्द्र रोबोटिक्स राउंड रहा जिसका मुख्य अतिथि एंव सभी सम्मानित अतिथियों नें फीता काटकर एवं मॉ सरस्वती के समक्ष द्वीप प्रज्जवलन कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। इसके पश्चात् स्कूल के विद्यार्थियों ने मॉ सरस्वती, गणेष वंदना और स्कूल एंथम किया। आर्टिफिषयल इंटेलिजेंस बेस्ड रोबोटिक्स का लाइव डेमो दिखातें हुये सभी विधार्थियों को रोबो डिजाइन के लिये प्रेरित किया जिसें सभी विधार्थियों, अभिभावकों एंव अतिथियों नें सराहा।


स्कूल की सीनियर हैड आषा षर्मा नें करंट सेषन की वार्षिक रिर्पोट प्रस्तुत करीं, जिसमें स्कूल की उपलब्धियों और विकास के बारे में सभी को अवगत करवाया गया। इसके साथ ही विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेताओं, शैक्षणिक गतिविधियों, एकेडमिक, कल्चरल, स्पोर्ट्स एचीवर्स व उत्कृष्ट कार्य करने वाले विद्यार्थियों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। ''नवरस'' नाम के अनुसार नौ प्रकार के रसों का समायोजन कर छात्र-छात्राओं ने अपनी अदभूत प्रस्तुतियों से सभी उपस्थित दर्षकों को अभिभूत कर दिया। इन प्रस्तुतियों में ठरकी छोकरो, लुक्का-छुप्पी, अंगूली पकडके, चक दूम-दूम, सज-धज के, जादू, इट्स मेजिक, कर हर मैदान फतेह इत्यादि नव रस शामिल थे।


कार्यक्रम में मुख्य अतिथि एवं डॉ. बडाया ने सभी बच्चों को वार्षिकोत्सव की बधाई दी एवं इस प्रकार के आयोजनों से विद्यार्थियों में हमारी संस्कृति एवं सभी धर्मों का आदर रखने का संदेष दिया एवं कहा कि षिक्षा के साथ साथ बच्चों के मानसिक विकास के लिये ऐसे कार्यक्रम जरूर होने चाहिये। विद्यार्थियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि जीवन में सफलता का कोई शॉर्टकट नही हैै कठोर परिश्रम और सकारात्मक सोच से ही सफलता का असली स्वाद चखा जा सकता हैं।


Comments