जल गुणवत्ता के लिए नियमित सैम्पलिंग करें -कार्यवाहक जिला कलक्टर

https://www.facebook.com/SANDDUNEONLINE


http://www.sanddunesnews.com/


जयपुर, 2 दिसम्बर। कार्यवाहक जिला कलक्टर श्री इकबाल खान ने जयपुर शहर में पानी की गुणवत्ता बनाए रखने के लिए समय-समय पर पानी के नमूने लेने और मानकों से तुलनात्मक विष्लेषण का रिकॉर्ड रखने के निर्देष दिए हैं। श्री खान ने खासकर उन दस जगहों के नमूने लेकर पानी की गुणवत्ता का अध्ययन कर रिपोर्ट देने को कहा है जहां केन्द्रीय रिपोर्ट के अनुसार एलुमिनियम की मात्रा ज्यादा बताई गई थी।


श्री खान ने सोमवार को जिला कलक्टेट में विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक में ये निर्देष प्रदान किए। उन्होंने पीएचईडी अधिकारियेां से स्पष्टीकरण मांगा कि किस आधार पर केन्द्रीय एजेंसी की रिपोर्ट में शहर के दस स्थानों से लिये गये पानी के नमूनों में एलुमिनियम अधिक होने की बात कही गई है। इस पर पीएचईडी अधिकारियों ने बताया कि अक्टूबर के बाद से शहर में टेंकरों द्वारा निजी नलकूपों से आपूर्ति बंद की जा चुकी है। ज्यादातर इलाकों में बीसलपुर का पानी आपूर्ति किया जा रहा है, इसलिए यहां एलुमिनियम मिलने की संभावना नहीं है, क्योंकि पानी को अब पॉलिएलुमिनियम क्लोराइड से ट्रीट किया जाता है।


श्री खान ने निर्देशित किया कि केन्द्रीय एजेंसी से नमूना लिए जाने वाले स्थल विषेष की जानकारी लेकर पीएचईडी एवं चिकित्सा अधिकारियों द्वारा पुनः सैम्पल लेकर वस्तुस्थिति की रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए। उन्होने केन्द्रीय एजेंसी द्वारा पानी के सेम्पलों के विष्लेषण के लिए आदर्ष मानकों अथवा अनुमत मानकों को अपनाए जाने पर भी स्पष्टीकरण मांगा है।
कार्यवाहक जिला कलक्टर श्री खान ने नगर निगम अधिकारियों को शहर में विवाह स्थलों पर अग्नि शमन, पार्किंग, सफाई एवं अन्य आवष्यक मानकों को पूरा करवाने के लिए कार्यवाही करते समय आयोजनकर्ता जनसामान्य की सुविधा का भी ख्याल रखने को कहा है। उन्होंने कहा कि जो विवाह स्थल बिना भू रूपान्तरण कराए चल रहे हैं, उनके सम्बन्ध में सर्वे कर नगर निगम एवं जेडीए सम्बन्धित राजस्व अधिकारी को मामला बनाकर भेजें।


श्री खान ने चिकित्सा अधिकारियों को अस्पतालों में स्वाइन फ्लू से बचाव की पूरी तैयारी, एनआईसी गतिविधियों एवं दवाओं की उपलब्धता बनाए रखने के निर्देष दिए हैं। साथ ही डेंगू की रोकथाम, एण्टी लार्वा गतिविधियों, फोगिंग के लिए नगर निगम से समन्वय बनाए रखने हुए कार्य करने को कहा। उन्होंने सीएमएचओ के अधिकारियों को हर हफ्ते फूड सेफ्टी एक्ट में ज्यादा से ज्याद सेम्पल लेने के निर्देष दिए हैं। उन्होंने ऐसे लोग एवं ऐसे स्थान जहां मिलावट की ज्यादा षिकायतें हैं, के खिलाफ हर हफ्ते ज्यादा से ज्यादा कार्यवाही करने के निर्देष दिए।


सांभर झील क्षेत्र में बिजली के लाइव वायर के सम्बन्ध में जयपुर डिस्कॉम के अधिकारियों ने बताया कि पूरे क्षेत्र की सर्वे कर यह सुनिष्चत कर लिया गया है कि जयपुर जिले में झील में कोई लाइव वायर नहीं हैं। पषुपालन विभाग के अधिकारी ने बताया कि सांभर त्रासदी में 28 नवम्बर तक के डेटा के अनुसार 9762 पक्षी मारे गए हैं, 271 को बचा लिया गया है जिसमें 200 मुक्त किये जा चुके हैं। श्री खान ने झील में अभी अभियान जारी रखने के निर्देष दिए हैं। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर चतुर्थ श्री अषोक कुमार, ईस्ट श्री राजीव पाण्डे, जेडीए, नगर निगम, पषुपालन, बिजली, चिकित्सा, पीडब्ल्यूडी समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी शामिल हुए।


https://www.facebook.com/SANDDUNEONLINE


http://www.sanddunesnews.com/


Comments