जयपुर शहर के विभिन्न क्षेत्रों में बालश्रम जागरूकता अभियान


हर बच्चें को शिक्षा प्रदान करना सबका नैतिक कृत्वय है परिस्थितिवश बालश्रम कर रहे बच्चों को
शिक्षा से जोडने के लिये आने वाली कठिनाईयों का समाधान कर स्कूलों से जोडने के लिये सब
को मिलजूल कर प्रयास करने होगे। विश्व मानवाधिकार दिवस के अवसर पर बालश्रम उन्मूलन
जागरूकता अभियान का शुभारम्भ करते हुए सिविल लाईन्स स्थित अपने निवास से कारवां रथों
को हरी झण्डी दिखाकर शुभारम्भ करते हुए श्रम राज्य मंत्री 1⁄4स्वतंत्र प्रभार1⁄2 टीकाकराम जूली ने
अपने संबोधन अपील कही। श्रम विभाग, यूनिसेफ एवं पीसीसीआरसीएस के संयुक्त तत्वावधान में
चलाया जा रहा अभियान शहर के विभिन्न क्षेत्रों में एक सप्ताह तक जागरूकता फैलायेगा। संयुक्त
श्रम आयुक्त जयपुर संभाग, धर्मपाल सिंह ने बताया कि बालश्रम बहुतायात वाले क्षेत्र में अभियान
के दौरान बच्चों के सर्वे के साथ होटल, दूकानों, मॉल, कचरा बीनने वाले स्थानों, नगीनों की
घिसाई, आरी-तारी, चूडी बनाने के कार्य, ईट-भट्टों एवं इण्डस्टिरियल इलाकों में सघन अभियान
चलाया जायेगा। माता-पिता, नियोजको के साथ समझाईश के साथ ही बालश्रम मुक्त जयपुर
बनाने की दिशा में कार्य किया जायेगा। अभियान 10 दिसम्बर से 16 दिसम्बर तक संचालित
होगा। पीसीसीआरसीएस के सचिव विपिन तिवारी ने बताया कि अभियान को तीन भागों में बांटा
गया है। प्रत्येक क्षेत्र में अभियान के तीन कारवां रथ अलग-अलग स्थानों पर निर्धारित रूट चार्ट
के अनुसार जागरूकता की दिशा में कार्य करेगें। इस अवसर पर अतिरिक्त श्रम आयुक्त चन्द्रभान
सिंह राठौड, यूनिसेफ के बाल संरक्षण विशेषज्ञ संजय निराला, सलाहकार धर्मेंद्र कुमार, फी्रडम
संस्था के रवि कुमार , पीसीसीआरसीएस के सी.ई.ओ अजय कुमार , शैलेन्द्र सिंह सहित कई
गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।


Comments