रविवार तक लम्बित शिकायतों को निस्तारित करने के निर्देश


जयपुर, 12 दिसम्बर। जनता को समय पर राहत मिल सके इसके लिए अधिकारी सक्रियता दिखायें। कार्यालय आते ही सबसे पहले अधिकारी लम्बित षिकायतों का निस्तारण करें। प्रषासक विजयपाल सिंह ने गुरूवार को नगर निगम के ई.सी. हाॅल में आयोजित समीक्षा बैठक में सभी अधिकारियों को षिकायत निस्तारण प्रणाली को तेज करने के निर्देष दिये है। प्रषासक ने निर्देष दिये है कि सम्पर्क पोर्टल, काॅल सेन्टर, प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री कार्यालय से प्राप्त आमजन के परिवादों का त्वरित निस्तारण किया जाये। इसके लिए समय सीमा तय करते हुए उन्होने सभी अधिकारियों को रविवार तक का समय दिया है। इसके साथ ही विधानसभा के लम्बित प्रष्नों का जवाब भी भिजवाने के निर्देष प्रषासक ने दिये है।


सडक पर कचरा नही दिखाई दे, बीवीजी संसाधन बढाये-
प्रषासक ने सभी जोन उपायुक्तों, मुख्य सफाई निरिक्षकों एवं बीवीजी के प्रतिनिधियों को निर्देष दिये है कि किसी भी सूरत मे सडक पर कचरा दिखाई नही देना चाहिए। उन्होने मुख्य सफाई निरिक्षकों को निर्देष दिये है की बीट सिस्टम को पूरी तरह क्रियान्वित करें। गन्दगी फैलाने वालों एवं पाॅलिथिन का उपयोग करने वालों पर कैरिंग चार्ज लगाया जाये। बीवीजी के प्रतिनिधियों को निर्देष दिये है कि हर घर तक कचरा संग्रहण करने वाली गाडी पंहुचनी चाहिए। यदि संसाधन कम पड रहे है तो संसाधन बढायें। इसके अतिरिक्त जो संसाधन काम में लिये जा रहे है उनके फेरे बढायें जायें।


वीटीएस सिस्टम को सुचारू करें-
उन्होने अधिकारियों को निर्देष दिये है कि हूपरों की माॅनिटरिंग के लिए शुरू किये गये वीटीएस सिंस्टम की सही तरीके से माॅनिटरिंग की जाये। यदि वीटीएस के माध्यम से पता चलता है कि कोई हूपर निर्धारित क्षेत्र को कवर नही कर रहा है, तो सम्बन्धित पर कार्रवाही की जाये। उन्होने अधिकारियों को शुक्रवार तक यह रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देष दिये है कि वीटीएस सिस्टम कितना प्रभावी है।


राजकार्य में लापरवाही बरतने पर चार सफाई निरिक्षक निलंबित-
राजकार्य में लापरवाही बरतने वाले चार सफाई निरिक्षकों को सस्पेंड कर दिया गया है। प्रषासक एवं आयुक्त विजयपाल सिंह ने एक आदेष जारी कर हवामहल जोन पूर्व वार्ड 68 में पदस्थापित कार्यवाहक सफाई निरिक्षक सुरेष कुमार, वार्ड 66 के कार्यवाहक सफाई निरिक्षक महेन्द्र चावरिया तथा सांगानेर जोन के वार्ड 36 के कार्यवाहक सफाई निरिक्षक मुकेष एवं वार्ड 49 के सफाई निरिक्षक रामस्वरूप को राजकार्य में लापरवाही बरतने पर तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। निलंबनकाल के दौरान उक्त कार्मिक मुख्यालय कार्मिक शाखा में उपस्थिति देेंगें।
बैठक में पेंडिग षिकायतों की समीक्षा के साथ स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के लिए आयोजित किये जा रहे कार्यक्रमों की भी समीक्षा की गई। इस दौरान अतिरिक्त आयुक्त अरूण गर्ग सहित सभी जोन उपायुक्त, मुख्यालय पर पदस्थापित उपायुक्त एवं निगम के अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।


 

 

Comments