विशेष ग्राम सभा में झलकी ग्राम स्वराज की भावना


जयपुर, 10 दिसम्बर। गांव के निवासी जब स्वयं अपने गांव के विकास की योजना बनाने में वैचारिक, सैद्धान्तिक एवं क्रियान्विति के स्तर पर शामिल होंगे तभी गांधी जी का ग्राम स्वराज का सपना साकार हो सकेगा। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के 150वें जयन्ती वर्ष में इसी सपने को पूरा करने के लिए मंगलवार को सांगानेर पंचायत समिति में महात्मा गांधी आदर्ष गांव अवानिया,  ग्राम पंचायत अवानिया में विषेष ग्राम सभा का आयोजन किया गया।


गांव के सैकड़ों स्त्री-पुरुषों की साक्षी में प्रातः 11 बजे प्रारम्भ हुई इस विषेष ग्राम सभा में गांव के विकास की एक वर्षीय, पांच वर्षीय योजना पर ग्रामीणों द्वारा जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में जिला स्तरीय अधिकारियों से विचार-विमर्ष किया गया। ग्राम विकास के 17 सूत्रीय एजेंडे के हर बिन्दु पर ग्रामीणों ने बेबाकी से अपनी बात रखी और सम्बन्धित अधिकारियों से सवाल-जवाब किए।


ग्राम सभा के दौरान गांधीजी के प्रिय भजनों का गायन किया गया। गांधीजी के विचारों के प्रसार के लिए काम कर रहे एनजीओ अजीम प्रेमज फाउण्डेषन द्वारा गांधी जी के विचारों पर आधारित एक प्रदर्षनी भी इस मौके पर लगाई गई। साथ ही उन्हें गांधी जी पर आधारित एक डॉक्यूमेंट्री भी दिखाई गई।


इस अवसर पर सरपंच श्री मदनलाल चौधरी ने ग्राम विकास के गांधीजी के आदर्षों से सम्बन्धित 17 सूत्रों पर पूरे मनोयोग से काम करने के लिए उनका आह्वान किया एवं बड़ी संख्या में ग्राम सभा में हिस्सा लेने के लिए ग्रामीणों का धन्यवाद ज्ञापित किया। जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी श्रीमती भारती दीक्षित ने ग्राम में समुचित व्यावसायिक प्रषिक्षण की व्यवस्था कर महिलाओं को स्वावलम्बी बनाए जाने पर जोर दिया। उन्होंने महिलाओं को खादी का महत्व बताते हुए सांकेतिक रूप से खादी के रूमाल वितरित किए।  उन्होंने राज्य एवं केन्द्र सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए ग्रामीणों का आह्वान किया।


इस अवसर पर पंचायत समिति प्रधान श्री कैलाष कुमावत, जिला परिषद सदस्य श्री गोपाल मीणा, जिला परिषद की अतिरिक्त कार्यकारी अधिकारी श्रीमती रेखा सामरिया, विकास अधिकारी श्री मुरारी शर्मा समेत कई विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे। इस अवसर पर ग्राम वासियों को नषाबंदी का संकल्प दिलाया गया। ग्राम सभा में ग्राम अवानिया के मास्टर प्लान पर चर्चा करते हुए ग्राम के विकास के लिए सभी विभागों से प्रस्ताव आमंत्रित किए गए थे। ग्राम सभा के बाद श्रमदान का भी आयेाजन किया गया।


Comments