केन्द्र सरकार की महिला एवं बच्चों के कल्याण के लिए अनेक योजनाएं


जयपुर सांसद श्री रामचरण बोहरा द्वारा लोकसभा में महिलाओं एवं बच्चों के कल्याण के लिए केन्द्र सरकार द्वारा कार्यान्वित की जा रही योजनाओं के संदर्भ में पूछे गये प्रश्न के उत्तर में केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती स्मृति जुबिन ईरानी ने बताया कि देश में महिलाओं और बच्चों के कल्याण के लिए 2 केन्द्रीय प्रायोजित अम्बरैला स्कीम- अम्बरैला समेकित बाल विकास सेवाऐं (आईसीडीएस) तथा महिला सशक्तिकरण और संरक्षण मिशन कार्यान्वित कर रहा है।


केन्द्रीय महिला एंव बाल विकास मंत्री ने बताया कि अम्बरैला स्कीम के योजनान्तर्गत 6 सेवाओं अर्थात् पूरक पोषण, स्कूल पूर्व अनौपचारिक शिक्षा, पोषण एवं स्वास्थ्य शिक्षा, टीकाकरण, स्वास्थ्य जाँच और रेफरल सेवाओं का पैकेज प्रदान करती है। इस स्कीम के अन्तर्गत लाभार्थी 0 से 6 वर्ष आयु वर्ग के बच्चे, गर्भवती महिलाएं तथा शिशुवती माताऐं हैं। प्रधानमंत्री मातृ वन्दना योजना (पीएमएमवीवाई) द्वारा विशिष्ट शर्तों को पूर्ण करने पर डी.बी.टी. मोड़ में गर्भवती महिलाओं तथा शिशुवती माताओं के सीधे बैंक अथवा डाकघर खाते में 3 किस्तों द्वारा 5000 हजार रूपये नकद प्रोत्साहन प्रदान किया जाता है।


सांसद बोहरा द्वारा महिला सशक्तिकरण एवं उनके विकास व संरक्षण के लिए पूछे गए प्रश्न के उत्तर में केन्द्रीय महिला एंव बाल विकास मंत्री ने बताया कि केन्द्र सरकार महिलाओं के सशक्तिकरण और संरक्षण के लिए अनेक योजनाओं के माध्यम से उन्हें शक्ति प्रदान कर रही है। जिनमें उज्जवला, स्वाधार गृह स्कीम, महिला शक्ति केन्द्रीय स्कीम, कामकाजी महिला हाॅस्टल, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, वन स्टाॅप सेंटर (ओएसपी), महिला हैल्प लाईन तथा महिला पुलिस वोलेंटियर (एमपीवी) स्कीम द्वारा महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करने का कार्य कर रही है।


सांसद बोहरा द्वारा महिला संरक्षण के लिए गृह मंत्रालय की भूमिका के संदर्भ में पूछे गए प्रश्न के उत्तर में केन्द्रीय महिला एंव बाल विकास मंत्री ने बताया कि महिला पुलिस वोलेंटियर स्कीम गृह मंत्रालय के सहयोग से महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा कार्यान्वित की जाती है। इसमें राज्यों / संघ राज्य क्षेत्रों में महिला पुलिस वोलेंटियर तैनात करने की परिकल्पना है, जो पुलिस और समुदाय के बीच कड़ी के रूप में काम करते हैं तथा विपदाग्रस्त महिलाओं को सहायता प्रदान करते हैं।


Comments