मोदी जी के नेतृत्व में देश टेक्नोलाॅजी के क्षेत्र में सिरमौरः- सांसद रामचरण बोहरा
भारतीय प्रतिभाओं ने 2 कोरोना वैक्सीन का आविष्कार कर विश्व को किया अचंभितः- सांसद रामचरण बोहरा

सांसद रामचरण बोहरा ने आज शनिवार को विज्ञान प्रसार (विज्ञान प्रौद्योगिकी भारत सरकार) तथा एनसीआरटी, विज्ञान भारतीय राजस्थान के सुयंक्त तत्वाधान में आयोजित ‘‘विधार्थी विज्ञान मंथन‘‘ राज्य स्तरीय विजेता पुरस्कार वितरण समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की।

सांसद बोहरा ने अपने उदबोधन में कहा कि इस प्रकार के आयोजनों से निश्चित रूप से हमारी युवा पीढी को विज्ञान की नई दुनिया में जाने का अवसर मिलेगा। ‘‘विधार्थी विज्ञान मंथन‘‘ का उद्देश्य ही विधार्थीयों में विज्ञान के प्रति रूचि जागृत करने के लिए एक मंच उपलब्ध कराना है।
 
आज हमारे देश में प्रतिभाओं की कमी नहीं है। लेकिन आवश्यकता है उन्हें उचित समय पर अवसर प्रदान करने की। यह कार्य आज हमारे आदरणीय प्रधानमंत्री जी कौशल विकास एवं मेक इन इण्डिया के माध्यम से कर रहे है ताकि युवा पीढी को प्रोत्साहित कर उन्हें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया जा सकें, उनमें छुपी हुई प्रतिभा को निखारा जा सके। मोदी जी के नेतृत्व में देश टेक्नोलाॅजी के क्षेत्र में सिरमौर हुआ है।
आज युवा पीढी एवं युवा उद्यमियों ने देश ही नहीं अपितु विश्व स्तर पर अपनी प्रतिभा के बल पर देश का नाम रोशन किया है। जहाॅ कोरोना कालखण्ड में पूरे विश्व की अर्थव्यवस्था चरमराई हुई थी एवं सम्पूर्ण मानव जाति का जीवन खतरे में था वहीं भारतीय प्रतिभाओं ने एक नहीं बल्कि दो-दो कोरोना वैक्सीन का आविष्कार कर विश्व को अचंभित कर दिया।
यह प्रतिभा का ही कमाल है कि आज हम कोरोना जैसी वैश्विक महामारी से मुक्ति दिलाने के लिये वैक्सीन का आविष्कार कर स्वयं भी आत्मनिर्भर बने साथ ही विश्व के अन्य देशों को भी वैक्सीन उपलब्ध करवाकर मानव जाति को बचाने का पुनीत कार्य कर रहे है। यह विज्ञान की ही देन है।
 
इस अवसर पर विज्ञान भारती संस्थान के सचिव डाॅ. मघेन्द्र शर्मा,राष्ट्रीय बौद्विक टोली के सदस्य डाॅ. श्रीकांत, विज्ञान भारती के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डाॅ. लक्ष्मण सिंह राठौड़, सीईईआरआई- पिलानी के निदेषक डाॅ. पी.सी. पंचारिया, एमएनआईटी केे निदेशक डाॅ. उदयकुमार यारागट्टी, डाॅ. जे.एस. संधू, विज्ञान भारती संस्थान के सयुंक्त सचिव श्री शैलेष जैन, सुबोध काॅलेज की पूर्व प्राचार्या डाॅ मधु श्रीवास्तव भी उपस्थित रहे।
Comments