निजी चिकित्सालयों को रेमडिसिविर एवं टोसिलीजुमेब औषधियों के वितरण की अनुशंसा करने वाली तीन सदस्यीय समिति का पुनर्गठन

-इंजेक्षन वितरण एवं व्यवस्था के पर्यवेक्षण के लिए एक अन्य समिति गठित
जयपुर कलक्टर श्री अन्तर सिंह नेहरा ने निजी चिकित्सालयों को कोविड 19 के उपचार के लिए रेमडिसिविर एवं टोसिलिजुमेब इंजेक्षन उपलब्ध करवाने के लिए तीन सदस्यीय नवीन समिति का गठन किया है। इस समिति की अभिशंषा पर रेमडिसिविर एवं टोसिलिजुमेब इंजेक्षन  के वितरण एवं पर्यवेक्षण के लिए भी एक तीन सदस्यीय समिति का गठन किया गया है।
सोमवार को जारी आदेशानुसार यह समिति कोविड 19 के उपचार के लिए रेमडिसिविर एवं टोसिलीजुमेब औषधि को निजी चिकित्सालयों की न्यायोचित आवश्यकता, उपयोगिता एवं उपलब्धता के आधार पर उपलब्ध करवाने के लिए अनुशंसा करेगी। पुनगर्ठित तीन सदस्यी समिति में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के उप निदेशक डाॅ.यदुराज सिंह एवं सवाई मानसिंह मेडिकल काॅलेज के मेडिसिन विभाग के वरिष्ठ प्रोफेसर डाॅ.रमन शर्मा एवं प्रोफेसर डाॅ.अभिषेक अग्रवाल शामिल हैं।
यह समिति प्रतिदिन राजस्थान चिकित्सा सेवा निगम (आरएमएससीएल) द्वारा उपलब्ध कराए गए इन इंजेक्शन के स्टाॅक व निजी चिकित्सालयों द्वारा पे्रेषित मांग के अनुसार आपस में चर्चा कर न्यायोचित आवश्यकता, उपयोगिता एंव उपलब्धता के आधार पर निर्णय लेगी एवं अनुषंसा करेगी। समिति की अनुशंसा के बाद ही जारी की जाने वाली औषधि (रेमडिसिविर एंव टोसिलीजुमेब इंजेक्षन) सम्बन्धित निजी चिकित्सा संस्थान को औषधि भण्डार गृह से उपलब्धता के आधार पर प्रदान की जाएगी।
आदेश में इस पुनगर्ठित समिति की अभिशंषा पर रेमडिसिविर एवं टोसिलिजुमेब इंजेक्शन के वितरण एवं पर्यवेक्षण हेतु जिला प्रशासन की ओर से एक और समिति का गठन किया गया है। इस वितरण एवं पर्यवेक्षण समिति में राजस्थान ब्रेवरीज कार्पोरेषन के कार्यकारी निदेशक श्री सुखवीर सैनी, राजस्थान सीड कार्पोरेषन के प्रबन्ध निदेशक श्री जसवंत सिंह एंव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के उप निदेशक डाॅ.यदुराज सिंह को सदस्य बनाया गया है।
Comments