पेट्रोल पम्प मालिक को गोली मार कर लूट की वारदात का खुलासा : पूर्व कर्मचारी ने ही रची थी लूट की साजिश-मात्र 36 घण्टों में घटना का खुलासा कर दो आरोपितों को किया गिरफ्तार
श्रीगंगानगर 31 जुलाई। शहर के मुखर्जी नगर में पेट्रोल पम्प मालिक संजय भाटिया को गोली मार कर की गई लूट के मामले का पुलिस ने मात्र 36 घण्टे में खुलासा कर 02 आरोपितों  को गिरफतार करने में सफलता हासिल की है। गिरफ्तार मोहित उर्फ गोरिया पुत्र विनोद कुमार नायक (19) व मोनू पुत्र राजू सैन (18) थाना पुरानी आबादी श्रीगंगानगर क्षेत्र के रहने वाले है। मोनू पूर्व में पीड़ित के पेट्रोल पम्प का कर्मचारी रह चुका है।
    एसपी राजन दुष्यन्त ने बताया कि 29 जुलाई की रात करीब 9.30 बजे भाटिया पैट्रोल पम्प के मालिक को दो अज्ञात व्यक्तियों ने उनके घर के आगे गोली मार दी और रुपयों से भरा बैग छीन कर भाग गये। पीड़ित के पुत्र प्रियांशु भाटिया की रिपोर्ट पर मुकदमा दर्ज कर अनुसंधान थानाधिकारी कोतवाली गजेन्द्र सिंह दवारा शुरू किया गया।
       घटना की गम्भीरता को देख एसपी राजन दुष्यंत ने घटना स्थल का निरीक्षण किया ओर मौके पर ही सीओ शहर अरविन्द्र बैरड व डीएसपी  महिला अन्वेषण सेल नरेन्द्र पुनिया के सुपरविजन में थानाधिकारी कोतवाली, पुरानी आबादी, जवाहर नगर व प्रभारी डीएसटी की अलग-अलग टीमे गठित कर वारदात को ट्रेस-आउट कर आरोपियों की गिरफतारी के निर्देश दिए।
     शहर में चल रहर धरना प्रदर्शन में कानून व्यवस्था ड्यूटी में व्यस्त होने के बाद भी टीमों ने आपस में समन्वय बना कर पैट्रोल पम्प से घटना स्थल तक के संभावित रास्तों के सीसीटीवी फुटेज चैक कर संदिग्धों को चिन्हित किया। संदिग्धों की शार्ट लिस्ट तैयार कर षड़यंत्र में शामिल मोहित उर्फ गोरिया व मोनू सैन को डिटेन कर पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया।
      मोनू पूर्व में संजय भाटिया के पैट्रोल पम्प पर काम कर चुका था। घटना के दिन उसने मोहित उर्फ गोरिया के साथ संजय भाटिया की रैंकी की। पेट्रोल पम्प से निकलते ही उनकी कार का पीछा कर पल-पल की जानकारी मुख्य वारदात करने वाले अभियुक्तों को दी। वारदात में शामिल 03 अन्य अभियुक्तों को चिन्हित कर लिया गया है, जिनकी तलाश हेतु टीमों द्वारा प्रयास किये जा रहे हैं। 
                         ------------
Comments