परिवहन संबंधित बजट घोषणाओं में से 70 प्रतिशत पूरी, जन घोषणा पत्र पर तेजी से काम - परिवहन मंत्री
परिवहन मंत्री श्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि परिवहन विभाग और राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम से संबंधित जन घोषणा पत्र और बजट की घोषणाओं पर तेजी से कार्य किया जा रहा है। परिवहन की बजट घोषणाओं में से 70 प्रतिशत को धरातल पर उतरा जा चुका हैं। वहीं, जन घोषणा पत्र पर भी तेजी से कार्य हो रहा है। कोरोना संकटकाल होने के बावजूद जिस तरह अभी तक अधिकारियों-कर्मचारियों ने कार्य किया है, हम शेष घोषणाओं को भी जल्द पूरा कर जनता को और राहत प्रदान करेंगे।

श्री खाचरियावास की अध्यक्षता में गुरूवार को परिवहन संबंधित घोषणाओं के क्रियान्वयन को लेकर समीक्षा बैठक आयोजित हुई। बैठक में उन्होंने कहा कि परिवहन विभाग ने ग्रीन कॉरिडोर बनाकर ऑक्सीजन परिवहन का सबसे बड़ा कार्य किया हैं। इससे समय ऑक्सीजन मिलने से हजारों मरीजों की जान बचाई गई। सड़क सुरक्षा के तहत प्रदेश में 90 प्रतिषत से अधिक दुर्घटना संभावित ब्लैक स्पॉट समाप्त कर दिये गये हैं। हमारा लक्ष्य सड़क सुरक्षा एवं सुगम परिवहन है।

श्री खाचरियावास ने कहा कि राजस्थान रोडवेज का सुव्यवस्थित संचालन करना हमारी जिम्मेदारी है। इसके लिए मुख्यमंत्री द्वारा भी विचार-विमर्श किया जा रहा है। प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए आने-जाने वाले परीक्षार्थियों को निःशुल्क यात्रा कराकर राहत दी जा रही हैं। ग्रामीण परिवहन सेवा भी जल्द शुरू करने के प्रयास किये जा रहे हैं। रोडवेज के सेवानिवृत कर्मचारियों को परिलाभ दिलाने के लिए उच्चस्तर पर कार्य किया जा रहा हैं। रोडवेज के कर्मचारियों को समय पर सैलेरी मिले, इसके लिए अधिकारियों को निर्देश दिए हैं।

परिवहन विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री अभय कुमार ने कहा कि कोविड-19 के मरीजों को समय पर  ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के लिए टैंकर्स का सुगम परिवहन किया गया। विभाग के आरटीओ-डीटीओ, निरीक्षकों ने 24 घंटे सेवाएं देकर अहम जिम्मेदारी निभाई।

परिवहन आयुक्त श्री महेंद्र सोनी ने बताया कि विभाग द्वारा ‘कर चुकता प्रमाण पत्र‘ (टीसीसी), ‘गुड्स परमिट‘ ऑनलाइन जैसे कई नवाचार किये गये हैं। अब घर बैठे ही लर्निंग लाइसेंस बनवाने और प्रिंट निकालने की सुविधा भी शीघ्र ही शुरू कर देंगे। जन घोषणा पत्र और बजट घोषणाओं से संबंधित कार्य जल्दी ही पूरे हो जायेंगे।
 
इस बैठक में राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम के चेयरमैन और प्रबंधन निदेशक (सीएमडी) श्री राजेश्वर सिंह, परिवहन विभाग के अपर परिवहन आयुक्त श्री महेंद्र खींची सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। 
Comments