लडकी को अगवा कर खरीद-फरोख्त करने वाले 02 महिलाओं सहित 06 गिरफ्तार, 1.50 लाख रुपये में किया सौदा
उदयपुर 11 अगस्त। थाना खेरवाडा निवासी एक युवती को प्रेमजाल में फंसा उसे अगवा कर बिचौलियों के मार्फ़त 1.50 लाख रुपये में बेच दिया गया, जिसकी झालावाड़ जिले में मोटी रकम लेकर शादी करा दी गई। थाना पुलिस ने लड़की के खरीद-फरोख्त के इस मामले में त्वरित कार्रवाई कर राजस्थान व गुजरात के रहने वाले 2 महिलाओं समेत 6 जनों को गिरफ्तार कर लिया है।
     उदयपुर एसपी राजीव पचार ने बताया कि 7 अगस्त को पीड़ित युवती के पिता ने एक रिपोर्ट दी, जिसमे बताया कि उसकी बेटी नवंबर 2020 में घर से बिना बताए कही चली गई थी, उन्होंने रिश्तेदारी व आस पास तलाश भी की मगर कोई पता नही चला। 5 अगस्त को बेटी ने फोन कर बताया कि उसे मंसारों की ओबरी निवासी अनिल पुत्र बंशी घर से भगा कर ले गया, फिर उसकी दुदालय, गंगधार, झालावाड में जबदस्‍ती शादी करा दी है। फोन पर उसकी बेटी यहां से छुडाकर ले जाओ की गुहार लगा रही थी। इस रिपोर्ट पर प्रकरण दर्ज कर अनुसंधान सीओ ऋषभदेव द्वारा प्रारम्भ किया गया।
        एसपी राजीव पचार ने बताया कि घटना की गम्भीरता को देख एएसपी मुकेश कुमार सांखला के सुपरविजन व सीओ विक्रम सिह व थानाधिकारी खेरवाडा श्याम सिह के नेतृत्व में विशेष टीम गठित की गई। गठित विशेष टीम ने आसूचना संकलन व लेटेस्ट तकनीक के सहयोग से मुख्य अभियुक्त अनील पुत्र बंशी लाल निवासी मसारो की ओबरी, ऋषभदेव, तथा खरीद-फरोख्त में शामिल शंकर पुत्र गला अहारी निवासी घरनाला, ऋषभदेव, दिलीप पुत्र सोभाग मल निवासी अरनावदा गजा कोटडा, पीडावा, झालावाड. नरेश भाई पुत्र दशरथ भाई बारोड निवासी दावली, सरडोइ, अरवल्ली, गुजरात, जशोदा पुत्री हिरा लाल डामोर निवासी उमेदरा फला सीशोद, बिछीवाडा व लीला बेन पत्नी स्वं. मोहन बरोट निवासी दावली, सरडोइ, अरवल्ली, गुजरात को डिटेन कर लिया।
       पुछताछ में अभियुक्त अनिल व अन्य बिचौलियों के द्वारा लडकी को 1.50.000 रूपये में बिना लडकी के घरवालों की जानकारी के फरोख्त करना बताया। जिन्हें बाद पुछताछ के गिरफतार किया जाकर अग्रिम अनुसंधान जारी है।
                          -----------
Comments