गौतस्करी के मामले में आठ सालों से फरार 03 स्थाई वारंटियों को हरियाणा से किया गिरफ्तार, पहचान छुपा कर रह रहे थे

चूरू 01 अगस्त। गौतस्करी के एक मामले में 8 वर्षों से फरार चल रहे तीन स्थाई वारंटियों को दूधवाखारा थाना पुलिस ने रविवार को हरियाणा के सोनीपत से गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए स्थाई वारंटी रंगड उर्फ गेलिया पुत्र खींवा राम बालदिया (43), संदीप उर्फ भूरा राम पुत्र खींवा राम बालदिया (28) तथा मांगी लाल उर्फ टीलू पुत्र पप्पू राम बालदिया (28) खारी भवाद थाना मथानियां जिला जोधपुर हाल सोहली थाना पचेरी जिला झुन्झुनूं के रहने वाले है।
     चूरू एसपी नारायण टोगस ने बताया कि तीनों वारण्टी पिछले आठ सालों से गौ वंश् अधिनियम के मामले में फरार चल रहे थे। फरारी के दौरान अपना नाम व पता बदल-बदल कर रहने। इनका न्यायालय की पत्रावली में निवास स्थान मथानिया अंकित था ओर किसी भी वारंटी की फोटो आईडी नही थी। फिर भी टीम ने 06 दिन के अथक प्रयास के बाद कडी से कडी जोड तीनों को गिरफतार करने में कामयाबी हासिल की। 
      पुलिस मुख्यालय द्वारा चलाये जा रहे वांछित अपराधियों की धरपकड अभियान के तहत एसपी नारायण टोगस के आदेशानुसार एएसपी योगेन्द्र फौजदार के निर्देशन व सीओ ममता सारस्वत के सुपरविजन में थाना दूधवाखारा थाना की टीम एएसआई महेन्द्र सिंह, कांस्टेबल राजेश कुमार, सोमवीर, सुनील कुमार व विजय सिंह द्वारा रविवार को थाना दुधवाखारा के लम्बे समय से फरार चल रहे तीनों स्थाई वारंटियों को खरखौदा, जिला सोनीपत, हरियाणा से गिरफतार किया गया है। 
                      -----------
Comments