वांछित अपराधियों की गिरफ्तारी का विशेष अभियान 31 अगस्त तक बढाया
10 हजार से अधिक वांछित गिरफ्तार

जयपुर, 16 अगस्त। महानिदेशक पुलिस राजस्थान श्री एम एल लाठर ने बताया कि पुलिस मुख्यालय द्वारा 5 जुलाई 2021 से प्रारंभ किए गए वांछित अपराधियों की धरपकड़ अभियान के तहत 10 हजार 665 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया जा चुका हैं। गिरफ्तार किए गए अभियुक्तों में से 1588 अभियुक्तों ने न्यायालय में समर्पण किया है। यह अभियान इस महीने के अंत तक जारी रहेगा। 

डीजीपी श्री लाठर सोमवार को पुलिस मुख्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि इस अभियान के तहत प्रदेश भर में वांछित व्यक्तियों की गिरफ्तारी के लिए सभी जिलों को सघन प्रयास करने के निर्देश दिए गए थे । उन्होंने बताया कि अभियान के तहत 5 सप्ताह में स्थाई वारंटी, मफरूर, उद्घोषित अपराधी, गैर जमानती वारण्ट, पैरोल से फरार और जैर तफ्तीश प्रकरणों में वांछित अपराधियों की धरपकड़ की जा रही है। 

महानिदेशक पुलिस ने बताया कि अभियान में जघन्य अपराधों में वांछित अपराधियों की गिरफ्तारी पर विशेष जोर दिया जा रहा है। अभियान के तहत उद्घोषित अपराधी 83, गिरफ्तारी वारंटी 1061, जैर अनुसंधान प्रकरणों में वांछित 2632 अपराधी, पैरोल से फरार 8 अपराधी, मफरूर  (धारा 299 द.प्र.सं. में वांछित ) 663 अपराधी, स्थाई वारंटी 6218 सहित कुल 10 हजार 665 अपराधी पुलिस की गिरफ्त में आ चुके है।

 *पकड़े गये अभियुक्तों में 437 ईनामी अपराधी* 

इस अभियान के दौरान पकड़े गये अभियुक्तों में 437 ईनामी अपराधी है। हत्या के मामले में 417, हत्या का प्रयास के 350, बलात्कार व पोक्सो के 294, अवैध मादक पदार्थ के 231, राज्य कर्मियों से मारपीट व सरकारी संपत्ति को नुकसान के 212 तथा अवैध हथियार के मामले में 123 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया जा चूका हैं।

प्रेस वार्ता में महानिदेशक पुलिस इन्टेलीजेन्स श्री उमेश मिश्रा, अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस अपराध डॉ. रविप्रकाश मेहरड़ा, एडीजी दूरसंचार श्री सुनील दत्त, एडीजी एसओजी श्री अशोक राठौड भी मौजूद रहे।
Comments