कोरोना की तीसरी लहर से बचाव के लिए राज्य सरकार पूरी तरह सजग और सतर्क -चिकित्सा मंत्री ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के साथ हुई वीसी में विभाग द्वारा की जा रही तैयारियों का दिया ब्योरा
जयपुर, 10 जनवरी। चिकित्सा मंत्री श्री परसादी लाल मीणा ने बताया कि राज्य के विभिन्न चिकित्सा संस्थानों में 50 हजार सामान्य, 28 हजार ऑक्सीजन, 6 हजार आईसीयू बेड एवं 1500 नीकू, पीकू बैड उपलब्ध हैं। भारत सरकार द्वारा इन्डीकेडेट महत्वपूर्ण दवाइयों का तीस दिन का पर्याप्त बफर स्टॉक है। उन्होंने कहा कि राज्य में कोरोना केसेज में बढ़ोतरी जरूर है लेकिन मृत्यु दर बेहद कम है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार कोरोना की तीसरी लहर से बचाव के लिए पूरी तरह सजग और सतर्क है।

श्री मीणा सोमवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री श्री मनसुख मांडवीय द्वारा देश के छह राज्यों (महाराष्ट्र, गुजरात, गोवा, मध्यप्रदेश, दमन और दीव व राजस्थान) के साथ ली जा रही वीडियो कांफ्रेंस में हिस्सा ले रहे थे। केंद्रीय मंत्री ने इस दौरान सभी राज्यों के चिकित्सा मंत्रियों के बातकर कोविड की तीसरी लहर से बचाव के लिए किए जा रही तैयारियों की समीक्षा की।

चिकित्सा मंत्री श्री मीणा ने बताया कि राज्य में वर्तमान में कोविड-19 के कुल एक्टिव केसेज 19 हजार 487 है और साप्ताहिक पोजिटिविटी की दर 5.26 है, जो भारत की साप्ताहिक दर 7.39 प्रतिशत से कम है। उन्होंने बताया कि कुल एक्टिव कैसेज में से 19 हजार 22 (98 प्रतिशत) होम आइसोलेशन में है एवं शेष 445 अस्पतालों में भर्ती हैं।

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि राज्य में ऑमिक्रॉन के 529 मरीज है। उन्होंने बताया कि जिनोम सिक्वेंसिंग में पॉजिटिव मरीजों में से लगभग 92 प्रतिशत ओमिक्रोन के ही पाए गए हैं। उन्होंने बताया कि राज्य में प्रतिदिन लगभग 63 हजार सैम्पल लिये जा रहे है, जिसकी संख्या को आने वाले दिनों में 1 लाख तक ले जाया जाएगा।

श्री मीणा ने कहा कि कोरोना प्रबंधन से लेकर वैक्सीनेशन हर मामले में राजस्थान अव्वल रहा है। राज्य में अब तक 92.6 प्रतिशत आबादी को कोविड़ की प्रथम डोज एवं इनमें से 76 प्रतिशत को द्वितीय डोज (18+आयु) लगाई जा चुकी है। 15 से 18 वर्ष के आयु वर्ग में लक्ष्य 46,81 लाख में से 18.40 लाख किशोर किशोरियों ( 39.9 प्रतिशत) को प्रथम डोज दी जा चुकी है। उन्होंने बताया की स्वास्थ्य कर्मी, फन्टलाईन वर्क्स एवं 60 वर्ष से अधिक आयु के गंभीर बीमारी से ग्रसित व्यक्तियों को लगभग 1 लाख लोगों को प्रिकॉशन डोज लगाई जा चुकी हैं।

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया तीसरी वेव की तैयारी के लिये 461 ऑक्सीजन जनरेटर प्लांट तैयार किये गये है। 40 हजार ऑक्सीजन कन्सन्ट्रेटर व अन्य उपकरणों से 1 हजार मेट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन उपलब्ध हो सकेगी। उन्होंने केंद्र सरकार से पर्याप्त मात्रा में कोवैक्सीन टीके उपलब्ध करवाने का भी आग्रह किया।

बैठक में प्रमुख शासन सचिव श्री वैभव गालरिया सहित अन्य राज्यों के चिकित्सा एवं प्रशासनिक अधिकारियों ने हिस्सा लिया।
Comments
Popular posts
प्रदेश में कोविड के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर प्रमुख शासन सचिव ने जारी किए विशेष दिशा-निर्देश
पुलिस मुख्यालय में लगी कोविड-19 की प्रिकॉशन डोज
Image
अवैध निर्माणों पर नगर निगम की बडी कार्रवाही, सरकारी भूमि मुक्त करायी
वर्ल्ड हेल्थ एंड वेलनेस फेस्टिवल और क्रैक द वेलनेस कोड ने हाथ मिलायादुनिया भर में वेलनेस को देंगे बढ़ावा
Image